ट्रेडिंग प्लेटफार्मों

म्युचुअल फंड

म्युचुअल फंड

म्युचुअल फंड

Got any Questions?
Call us Today!

Toll Free Numbers
(if dialed within India)

Non Toll Free Numbers
(if calling from outside India)

Customers are requested to call on our
mentioned Toll Free Numbers only for any
complaints/issues. Bank shall not be
responsible for any consequences arising
out of customers calling any other
unverified numbers.

म्यूचुअल फंड

हमने अपनी शाखाओं के माध्यम से केनरा रोबेको के साथ उनके म्यूचुअल फंड उत्पादों की क्रॉस सेलिंग (प्रति-विक्रय) के लिए गठजोड़ किया है। निम्नलिखित योजनाओं में निवेश किया जा सकता है।

Mutual Fund सही तो है पर कौन सा? रिस्‍क से लेकर लॉक-इन पीरियड तक, सबकुछ जानिए

Mutual fund (MF) Investments: म्‍युचुअल फंड्स में इनवेस्‍टमेंट करना समझदारी का सौदा साबित हो सकता है अगर आप अपनी जरूरत के हिसाब से सही फंड चुनें। जानिए कितने तरह के म्‍युचुअल फंड्स होते हैं।

आपके लिए कौन सा म्‍युचुअल फंड सही है?

आपके लिए कौन सा म्‍युचुअल फंड सही है?

म्‍युचुअल फंड्स में निवेश केवल मार्केट रिस्‍क कवर भर तक सीमित नहीं है। ज्‍यादा रिस्‍क में ज्‍यादा मुनाफा कमाने का मौका है तो SIP के जरिए लॉन्‍ग-टर्म इनवेस्‍टमेंट भी किया जा सकता है। म्‍युचुअल फंड्स कई कैटिगरीज में आते हैं। आप अपनी रिस्‍क क्षमता और इनवेस्‍टमेंट गोल के आधार पर सही म्‍युचुअल फंड चुन सकते हैं।

इक्विटी फंड और ELSS क्‍या हैं?

इक्विटी फंड और ELSS क्‍या हैं?

इक्विटी फंड्स ऐसे म्‍युचुअल फंड्स होते हैं जो कम से कम 65% इनवेस्‍टमेंट इक्विटी या उससे जुड़े इंस्‍ट्रुमेंट्स में करते हैं। इनकी 100% इनवेस्‍टमेंट इक्विटी में हो सकती है। मार्केट्स में उतार-चढ़ाव का सबसे ज्‍यादा असर इन्‍हीं फंड्स पर पड़ता है। इक्विटी फंड्स के जरिए लॉन्‍ग-टर्म में अच्‍छी-खासी संपत्ति बनाई जा सकती है। मार्केट फ्लक्‍चुएशंस से निपटने के लिए आपको 3 साल से ज्‍यादा के लिए इनवेस्‍ट करना चाहिए। ELSS या इक्विटी लिंक्‍ड सेविंग्‍स स्‍कीम इन्‍हीं की सब-कैटिगरी है जिसमें निवेश पर इनकम टैक्‍स ऐक्‍ट की धारा 80C के तहत टैक्‍स में छूट मिलती है लेकिन इनका लॉक-इन पीरियड 3 साल होता है।

Mutual Fund: क्यों डेट म्युचुअल फंड से निवेशकों का हो रहा मोहभंग, जून तिमाही में निकाले 70,000 करोड़ रुपये

Mutual Fund: फिक्स्ड इनकम या डेट फंड की संख्या 16 है जिनमें म्युचुअल फंड जून तिमाही में 12 में से निकासी हुई है. अधिक मात्रा में निकासी कम अवधि के कोषों, कॉरपोरेट बांड कोष, बैंकिंग और पीएसयू कोषों में से हुई है.

By: पीटीआई- भाषा | Updated at : 21 Aug 2022 03:39 PM (IST)

डेट म्यूचुअल फंड

Mutual म्युचुअल फंड Fund: निवेशकों ने लगातार तीसरी तिमाही में निश्चित आय वाली प्रतिभूतियों पर केंद्रित म्यूचुअल फंड से निकासी जारी रखी. अप्रैल-जून तिमाही में उच्च मुद्रास्फीति और नीतिगत दरों के बढ़ने से निवेशकों ने म्युचुअल फंड से 70,000 करोड़ रुपये से अधिक की निकासी की.

म्यूचुअल फंड कंपनियों के संगठन एम्फी के मुताबिक, हालिया निकासी की वजह से डेट निश्चित आय फंड के लिए फंड प्रबंधकों द्वारा प्रबंधित परिसंपत्तियां जून महीने के अंत में पांच फीसदी घटकर 12.35 लाख करोड़ रुपये की रह गईं जो मार्च के अंत में करीब 13 लाख करोड़ रुपये थीं. वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में निश्चित आय श्रेणी के तहत प्रबंधन-अधीन परिसंपत्तियां 14.16 लाख करोड़ रूपये के उच्च स्तर पर पहुंच गई थीं लेकिन तब से इसमें लगातार गिरावट आ रही है और जून 2022 आने तक यह 13 फीसदी तक कम हो गईं.

भारतीय म्यूचुअल फंड संघ (एम्फी) के आंकड़ों के मुताबिक, समीक्षाधीन तिमाही में डेट म्युचुअल फंड (ओपन एंडेड फिक्स्ड इनकम म्युचुअल फंड) से शुद्ध रूप से 70,213 करोड़ रुपये की निकासी हुई. अप्रैल में इस श्रेणी में 54,756 करोड़ रुपये का निवेश आया था लेकिन मई और जून में स्थिति बदल गई और इन दो महीनों में निवेशकों ने क्रमश: 32,722 करोड़ रुपये और 92,247 करोड़ रुपये निकाल लिए. निवेश हासिल करने वाली श्रेणियों में नकदी कोष, 10 वर्ष का गिल्ट कोष और लंबी अवधि का कोष शामिल हैं.

ट्रस्ट म्युचुअल फंड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी संदीप बागला ने कहा, "जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए यह अनुमान लगाया जा सकता है कि प्रणालीगत तरलता कम होने और उच्च नियामक दरों के लिहाज से मौद्रिक परिस्थितियां सख्त होंगी. इससे म्युचुअल फंड डेट कोष में से और निकासी हो सकती है." बागला ने कहा कि बीती तीन तिमाहियों से निवेशक निश्चित आय वाले कोष से पैसा मुख्यत: ऊंची मुद्रास्फीति और ब्याज दरों पर इसके प्रभाव की वजह से निकाल रहे हैं. उन्होंने कहा कि निवेशक तरलता की आवश्यकता और अपनी पूंजी की रक्षा के लिए भी पैसा निकाल रहे हैं.

News म्युचुअल फंड Reels

मार्केट मेस्ट्रो में निदेशक और संपत्ति प्रबंधक (अमेरिका) अंकित यादव ने कहा कि आगामी तिमाहियों में डेट म्युचुअल फंड में प्रवाह तय करने में ब्याज दर अहम कारक होगी. दरों में स्थिरता आने पर प्रवाह की उम्मीद की जा सकती है. यादव ने कहा कि दरें बढ़ने विशेषकर अमेरिका के केंद्रीय बैंक के द्वारा ऐसा करने की आशंका के बीच निवेशकों के बीच अनिश्चितता का माहौल है.

ये भी पढ़ें

Published at : 21 Aug 2022 03:39 PM (IST) Tags: stock market Mutual fund june Debt mutual fund Stock Market हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

जानिए क्यों है म्यूचुअल फंड्स आपके लिए फायदे का मौका, कैसे और कब लगाएं पैसा, पढ़ें सभी सवालों के जवाब

आप Mutual Fund ब्रोकर या फिर डिस्ट्रीब्यूटर के ऑफिस पहुंच कर ऑफ लाइन तरीके से निवेश कर सकते हैं। इसमें भी आपको फार्म भर कर केवाईसी की शर्तों को पूरा करना होगा। आप म्यूचुअल फंड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर घर बैठे स्कीम में निवेश कर सकते हैं.

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। निवेश एक ऐसी प्रकिया है जिसकी योजना तो सभी बनाते हैं लेकिन इस पर समय से फैसला बेहद कम ही लोग ले पाते हैं. दरअसल निवेश को लेकर लोगों के मन में इतने सवाल होते हैं कि इनका जवाब तलाशते तलाशते वक्त हाथ से निकल जाता है. अगर आप भी Mutual Fund में निवेश करने की योजना बना रहे हैं लेकिन अपने ही सवालों से परेशान हैं तो आज हम आपके सामने ऐसे 4 सबसे ज्यादा उठने वाले सवालों के जवाब लेकर आएं हैं. इन्हें पढ़ें और इससे पहले कि निवेश का सही वक्त निकल जाए आप फैसला लें और अपनी मेहनत की कमाई से अपना भविष्य बना लें.

what are Defensive Stocks? Should you keep it in portfolio?

आज ही शुरू करें अपना शेयर मार्केट का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

क्यों करें म्यूचुअल फंड में निवेश?

ये सवाल सभी लोगों के दिमाग में सबसे पहले आता है। आप जानते ही हैं कि हर तरह के निवेश में कम या ज्यादा जोखिम रहता ही है, और निवेश पर रिटर्न इस बात पर निर्भर करती है कि आप कितना जोखिम उठा रहे हैं. अक्सर ऊंचे रिटर्न के लालच में आम लोग अपनी बड़ी रकम गंवा देते हैं वहीं कुछ लोग रकम गंवाने के डर से बेहतर निवेश पाने की कोशिश ही नहीं करते और पारंपरिक निवेश विकल्पों में पैसा लगा देते हैं जो अक्सर बढ़ती महंगाई में नुकसान का सौदा बन जाते हैं। Mutual Fund आम निवेशकों के जोखिम को कम करता है और बेहतर रिटर्न देने की कोशिश करता है। म्यूचुअल फंड में आम लोग छोटी छोटी रकम से कम जोखिम के साथ निवेश की शुरुआत कर सकते हैं और आपके इस छोटे निवेश पर भी बाजार के एक एक्सपर्ट की लगातार नजर रहती है, जो पूरी कोशिश करता है कि आपका रिटर्न बाकी लोगों से ऊंचा रहे। वहीं निवेश क्यों करें, इस सवाल का जवाब पाने के लिए आप 5Paisa की भी मदद ले सकते हैं. 5paisa के एप या वेबसाइट पर जाकर आप म्यूचुअल फंड्स के प्रदर्शन पर नजर डाल सकते हैं वहीं इन स्कीम के फायदों की भी जानकारी ले सकते हैं. जिससे आपको ये समझने में काफी आसानी होगी कि एमएफ में क्यों निवेश किया जाना चाहिए .

Make this Children Day special for your children by investing in their future

किस म्यूचुअल फंड स्कीम में करें निवेश?

इस सवाल का जवाब पाने के लिए पहले आपको ये तय करना होगा कि आप आने वाले समय में इस रकम से क्या करना चाहते हैं. दरअसल MF scheme कई तरह की होती हैं और वे अलग अलग रिटर्न के आधार पर प्लान की जाती. यानि म्युचुअल फंड आपको सुरक्षित लेकिन एफडी से बेहतर रिटर्न चाहिए तो डेट फंड आपके लिए हैं. वहीं आप कम समय में तेज कमाई करना चाहते हैं लेकिन मार्केट में उतरने से डरते हैं तो आपके लिए इक्विटी आधारित कई स्कीम मौजूद है। बच्चों की पढ़ाई, उनकी शादी यहां तक कि कुछ सालों बाद फॉरेन ट्रिप के लिए भी Mutual Fund की मदद ले सकते हैं। आपको करना ये है कि पहले अपना जोखिम लेने का स्तर चुने और फिर अपनी जरूरत का कैलकुलेशन करें और फिर बाजार में रिसर्च करें.या फिर आप बाजार के किसी काबिल जानकार की भी मदद ले सकते हैं जो आपको आपका लक्ष्य हासिल करने के लिए सबसे अच्छे विकल्प बताएगा। 5Paisa भी आपको आपकी जरूरतों और जोखिम के स्तरों के आधार पर एमएफ स्कीम चुनने में मदद करता है. जिससे आप अपना रिटर्न बढ़ा सकते हैं। ये एक डीआईवाई प्लेटफार्म है यानि यहां आप सिर्फ निवेश ही नहीं करते बल्कि निवेश, रणनीतियों और बाजार को समझते और सीखते भी हैं जिसकी वजह से आप अपनी पूरी संतुष्टि के साथ फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हो जाते हैं।

Mutual Fund is a better investment option to create Lakhs

कब करें म्युचुअल फंड में निवेश?

MF scheme के रिटर्न पर नजर डालें तो निवेशकों को इसका असली फायदा लंबी अवधि में दिखता है.वहीं लंबी अवधि का नजरिया लेकर चलने पर आप बेहद छोटी रकम को बढ़ता हुआ भी देखते हैं. अगर आप 5 Paisa के म्यूचुअल फंड कैलकुलेटर की मदद लेंगे तो आपको पता चलेगा कि कैसे लंबी अवधि में छोटी रकम बड़ी संपत्ति में बदल जाती है. और इससे आपको बाजार में समय पर निवेश के फायदे साफ दिखते हैं। बाजार के सभी जानकार मानते हैं कि म्यूचुअल फंड्स में इंश्योरेंस की तरह ही जितनी जल्दी हो निवेश की शुरुआत कर देनी चाहिए. दरअसल युवावस्था में म्युचुअल फंड खर्च सीमित किए जा सकते हैं. हालांकि जिम्मेदारी बढ़ने के साथ ये संभव नहीं होता। ऐसे में अगर आपकी नई जॉब लगी हो तो बेहतर है पहली सैलरी से मिठाई खरीदने के साथ एक mutual fund scheme में पैसा लगाना आपके लिए काफी फायदे का सौदा होगा। हालांकि आपने समय बीतने के साथ भी निवेश नहीं किया है तो भी जितनी जल्दी शुरुआत करने का फायदा उतना ज्यादा होगा।

If you need money then your Mutual Fund will be useful

कैसे करें म्युचुअल फंड में निवेश?

Mutual Fund में निवेश आप कई तरीकों से कर सकते हैं। आप जिस स्कीम में म्युचुअल फंड निवेश करना चाहते हैं उस स्कीम से जुड़े फंड हाउस में जाकर ऑफलाइन तरीके से निवेश कर सकते हैं। इसके लिए आपको पहले अपनी और स्कीम की पूरी जानकारियों के साथ फॉर्म भरना होगा और केवाईसी की शर्तें पूरी करनी होगी साथ ही चेक या डीडी के जरिए भुगतान करना होगा, अगर आप एसआईपी ले रहें हैं तो आपको कैंसिल चेक देने होंगे।

आप Mutual Fund ब्रोकर या फिर डिस्ट्रीब्यूटर के ऑफिस पहुंच कर ऑफ लाइन तरीके से निवेश कर सकते हैं। इसमें भी आपको फार्म भर कर केवाईसी की शर्तों को पूरा करना होगा। आप म्यूचुअल फंड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर घर बैठे स्कीम में निवेश कर सकते हैं. यहां आपको ई-केवाईसी के लिए डाक्यूमेंटस अपलोड करने होंगे. पैसों का भुगतान ऑनलाइन किया जा सकता है। आप इसी तरह ब्रोकर की वेबसाइट पर भी जाकर निवेश कर सकते हैं।

कई fund house और broker app निवेश की सुविधा भी देती हैं. इसमें आपको एप डाउनलोड कर eKYC की शर्तों को पूरा करना होगा। 5paisa भी एक ऐसा ही ऐप है। जिसके जरिए शेयर बाजार और Mutual Fund में पैसा लगाने और निकलाने की सुविधा मिलती है. 5paisa देश का सबसे तेजी से बढ़ने वाला डिस्काउंट ब्रोकर ऐप है. एक करोड़ से ज्यादा लोग इस ऐप के साथ जुड़ चुके हैं. इसकी एक और खासियत है. यहां म्यूचुअल फंड में निवेश पर कोई कमीशन नहीं देना होता है। तो अब ज्यादा का सोचना फोन उठाएं और जुड़ जाएं।

म्युचुअल फंड

म्यूचुअल फंड पेश करना

इक्विटी म्युचुअल फंड - जब आप लंबी अवधि के लिए अपने इन्‍वेस्‍टमेंट्स को बनाए रखते हैं तो यह सबसे अच्छा परिणाम देता है।

सबसे अच्छे रिटर्न के लिए इक्विटी म्यूचुअल फंड में लंबी अवधि के लिए इन्‍वेस्‍टमेंट करने की आवश्यकता की खास बातें।

म्यूचुअल फंड के बारे में

जैसे आप आय अर्जित करने के लिए काम करते हैं, वैसे ही म्यूचुअल फंड में निवेश करें और अपने पैसे को आपके लिए काम पर लगाएं

जीवन की शुरुआती योजना बनाकर फाइनेंसियल स्वतंत्रता - कैसे म्यूचुअल फंड में निवेश करके व्यक्ति अपने फाइनेंसियल गोल्स को प्राप्त करने की योजना बना सकते हैं।

बढ़ती मुद्रास्फीति को दूर करने और किसी भी चिंता के बिना सेवानिवृत्ति जीवन का नेतृत्व करने के लिए जल्दी निवेश करना शुरू करें और स्मार्ट निवेश विकल्प बनाएं।

उचित लक्ष्य निर्धारण और फाइनेंसियल प्लानिंग , शार्ट टर्म और लॉन्ग टर्म वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने में सहायता कर सकता है।

संतुलित पोर्टफोलियो प्राप्त करने और सीधे निवेश के नुकसान से बचने के लिए विभिन्न एसेट क्लासेज के अच्छे मिश्रण में निवेश करें।

ई-लर्निंग

इस मॉड्यूल से यह समझने में मदद मिलेगी कि म्युचुअल फंड कैसे काम करता है ताकि आप म्युचुअल .

इस मॉड्यूल से आपको म्युचुअल फंड में इन्‍वेस्‍टमेंट्स करने के लाभ और जोखिम दोनों को समझने में म.

About Us

Funds

  • Savings Solution
  • Income Solution
  • Wealth Creation
  • Tax Solution

Goal Planning

  • Buy a Car
  • Child Education
  • Children's Marriage
  • Dream House
  • Retirement

Investor Solutions

Quick Links

  • Check Fund Performance
  • Complete eKYC
  • Download Application Forms
  • Find an Advisor
  • Investor Education
  • Market Insights
  • Start a SIP
  • PMS

Connect with us

Looking for our mobile app

Aditya Birla Sun Life AMC Limited (formerly known as Birla Sun Life Asset Management Company Limited), the investment manager of Aditya Birla Sun Life Mutual Fund is a joint venture between the Aditya Birla Group and Sun Life Financial Inc. of Canada.

रेटिंग: 4.33
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 807
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *