शेयर ट्रेडिंग

मुख्य प्रकार के सिक्के

मुख्य प्रकार के सिक्के
बताया जा रहा है कि किशन सूदखोरी का काम करता था। उसने अपने सात कर्जदारों के खाते बैंक में खुलवाए थे। कर्जदारों की पासबुक, एटीएम कार्ड को अपने कब्जे में रखा था।

पेंशनधारकों के लिए बड़ी खबर: लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने का आज आखिरी दिन, नहीं तो होगी परेशानी

2 रुपये का सिक्का बदलेगा आपकी किस्मत, घर बैठे कमाएं लाखों रुपये

नई दिल्ली: Indian Currency: अगर आपको पुराने सिक्के और नोट जमा करने का शौक है तो आपके लिए जबरजस्त पैसा कमाने का मौका है। आप घर मुख्य प्रकार के सिक्के बैठे लाखों रुपये कमा सकते हैं। बता दें कि मौजूदा समय में अंतर्राष्ट्रीय बाजार में पुराने सिक्के और नोट काफी तेजी से बेचें जा रहे हैं। यहां पर इनकी अच्छी कीमत दी जा रही है। अगर आप भी ऐसे पैसे कमाना चाहते हैं तो अपने पास खंगाल लीजिए।

2 रुपये के सिक्के की डिमांड

यह 2 रुपये का सिक्का इस मुख्य प्रकार के सिक्के समय काफी डिमांड में है। कई लोग इसकी काफी ज्यादा डिमांड कर रहे हैं। यह 2 रुपये का सिक्का अलग-अलग तरह का आता है। पर अब इसे बंद कर दिया गया है। अगर आपके पास ऐसा सिक्का हो तो इसे बेचकर लाखों रुपये कमा सकते हैं।

बता दें कि 90 के दशक में 2 रुपये के सिक्कों पर कई महापुरुषों की तस्वीरें या विशेष दिवस अंकित होते थे। जिसकी वजह से ये काफी खास होते थे। ऐसे सिक्कों को काफी कीमत में खरीदा जाता है। 1994 साल में दो रुपये का सिक्का जारी किया गया था, जिसकी आज काफी डिमांड है। इस सिक्के पर विश्व खाद्य दिवस का लोगो बना हुआ है। अगर आपके पास ये सिक्का है तो ऑनलाइन वेबसाइट पर बेचकर 5 लाख रुपये कमा सकते हैं। वहीं अगर आपके पास 2 रुपये का कोई ऐसा सिक्का है। जिस पर किसी महापुरुष मुख्य प्रकार के सिक्के मुख्य प्रकार के सिक्के की तस्वीर है तो आप उसको 2 लाख रुपये में बेच सकते हैं।

आहत सिक्के क्या होते हैं?

इसे सुनेंरोकेंप्राचीनतम सिक्कों को आहत सिक्के (पंचमार्क कॉइन्स) कहा जाता है। इन्ही को साहित्य में ‘पुराण’, ‘धरण’, ‘शतमान’ आदि भी कहा जाता है। समय ई0 पू0 दूसरी शती तक चलते रहे, ये सिक्के एक समान भार के है। उनका भार लगभग 50 से 56 ग्रेन था।

कौन सा सिक्का छोटे सिक्के कहलाते हैं?

इसे सुनेंरोकेंवर्तमान में मुख्य प्रकार के सिक्के भारत में 50 पैसे, एक रुपया, दो रुपये, पाँच रुपये, दस रुपये तथा बीस रुपये के मूल्यवर्ग के सिक्के जारी किए जा रहे हैं । 50 पैसे तक के सिक्कों को “छोटे सिक्के” कहा जाता है तथा एक रुपया और इससे अधिक के सिक्कों को “रुपया सिक्का” कहा जाता है ।

वैदिक काल में सिक्के को क्या कहते हैं?

इसे सुनेंरोकेंवैदिक काल का एक प्रकार का सोने का सिक्का या मोहर जिसका मान भित्र भित्र समयों में भिन्न भिन्न था । विशेष—प्राचीन काल में यज्ञों में राजा लोग ऋषियों और ब्राह्मणों को दक्षिणा में देने के लिये सोने के बराबर तौल के टुकड़े कटवा लिया करते थे जो ‘निष्क’ कहलाते थे । इन्हीं टुकड़ों ने आगे चलकर सिक्कों का रूप घारण कर लिया ।

संसार में चांदी के सिक्के चलाने वाला पहला राजा कौन था?

इसे सुनेंरोकें- माना जाता है कि शेरशाह सूरी ने अपने शासनकाल में जो रुपया चलाया था, वह एक चांदी का सिक्का था।

भारत में स्वर्ण सिक्के जारी करने वाला प्रथम राजा कौन था?

इसे सुनेंरोकेंयह भारत के किसी राजा द्वारा मुख्य प्रकार के सिक्के जारी प्रथम स्वर्ण सिक्का माना जाता है; इसे 127 सीई में कुषाण राजा कनिष्क 1 द्वारा जारी किया गया था।

पंचमार्क सिक्के बनाने की डाई कहाँ मिली है?

इसे सुनेंरोकेंपंचमार्क सिक्के बनाने की डाई कहाँ मिली है – panchamark sikke banane ki dye kaha mili hai.

इसे सुनेंरोकेंआहत सिक्के धातु के टुकङे पर चिन्ह विशेष ठप्पा मारकर (पीटकर) बनाए जाते थे। आहत सिक्कों पर चिन्हों के अवशेष भी मिलते हैं जैसे – मछली, पेङ, मोर, यज्ञ वेदी, हाथी, शंख, बैल, ज्यामीतीय चित्र (वृत्त, चतुर्भुज, त्रिकोण ), खरगोश।

हाल के पोस्ट

  • Prorganiq – Best Whey Protein Isolate Supplement
  • Prorganiq – Mass Gainer Supplement
  • Prorganiq – Best Whey Protein Supplement
  • शीर्ष 8 आल्टक्वाइंस जिन्हें आपको 2022 में भारत में खरीदनी चाहिए (Top 8 Altcoins To Buy In India In 2022)
  • दुनिया भर के क्रिप्टो-फ्रेंडली देशों का क्रिप्टो के विनियमन के बारे में क्या कहना है? (How are crypto-friendly nations around the globe approaching Crypto regulations?)
  • पतंजलि एलोवेरा साबुन Patanjali Aloe Vera Kanti Soap
  • पतंजलि पाचक हींग गोली की जानकारी Patanjali Pachak Hing Goli
  • सर्दियों में हरी मटर के कुरकुरे पकौड़े बनाकर सॉस के साथ इनका मज़ा ले Matar Pakoda Recipe
  • मुख्य प्रकार के सिक्के
  • घर पर रखी बस तीन सामग्री से बनाएं इतने क्रंची कुकीज़ Jam Cookies Recipe
  • बाल्टी चिकन इतना लज़ीज़ कि जिसको खाकर सब कहेगे वाह Balti Chicken Recipe

मौर्यकालीन राज्यव्यवस्था और प्रशासन

सिक्के स्वर्ण, चाँदी और तांबे के बने होते थे। इनसे बनी मुद्राओं को निम्नलिखित नामों से जाना जाता था जो इसप्रकार हैं।
स्वर्ण सिक्के–निष्क एवं सुवर्ण
चाँदी के सिक्के–पण, रूप्य, धरन, शतमान
ताँबे के सिक्के–माषक, भाषक एवं कांकणी
कार्षापण चाँदी एवं तांबे को मिलाकर बनाया जाता था।

1. मुद्रा काकणी किस धातु का बना होता था ?
उत्तर :- तांबे का
2. मेगास्थनीज ने एक मार्ग निर्माण अधिकारी का उल्लेख किया है जिसे कहा जाता था ?
उत्तर :-एग्रोनोमोई
3. कौटिल्य ने अर्थशास्त्र में शूद्रों को मलेच्छों से भिन्न दर्जा देते हुए कहा है ?
उत्तर :- आर्य
4. अर्थशास्त्र के अनुसार वैसी स्त्रियां जो घर से बाहर नहीं निकलती थीं, कहा जाता था ?
उत्तर :- अनिष्कासिनी
5. मौर्यकाल में सूती वस्त्र के प्रमुख केन्द्र थे-
उत्तर :- काशी, बंग, पुण्डु, कलिंग और मालवा
6. मौर्यकाल में मुद्राओं को जारी करने का अधिकार किसे था ?
उत्तर :-लक्षणाध्यक्ष एवं सौवर्णिक को
7. कौटिल्य ने कितने दासों का उल्लेख किया है ?
उत्तर :- नौ प्रकार के
8. मेगास्थानीज ने अपनी पुस्तक इंडिका में शिल्पियों को स्थान दिया है ?
उत्तर :- चौथा
9. मौर्यकाल में सिंचाई कर निर्धारित था- उपज का 1/5 मुख्य प्रकार के सिक्के से 1/3 भाग
मौर्यकाल में समस्त निर्मित वस्तुओं को जिसकी देखभाल में बाजारों में बेचा जाता था, उसे क्या कहा जाता था ?
उत्तर :-पण्याध्यक्ष
10. मौर्यकाल में रेशम का किस देश से आयात होता था ?
उत्तर :- चीन से।
प्राचीन भारत का इतिहास
11. अर्थशास्त्र में शीर्षस्थ अधिकारी के रूप में 18 तीर्थों का उल्लेख मिलता हैजिन्हें एक अन्य नाम से भी जाना जाता है ?
उत्तर :- महामात्र
12. सर्वाधिक महत्वपूर्ण तीर्थों में तीन कौन थे, जिन्हें करीब 48,000 पण वार्षिक वेतन के रूप में मिलता था ?
उत्तर :- पुरोहित, महामंत्री और सेनापति
13. राजस्व विभाग का प्रमुख अधिकारी जिसका मौर्य प्रशासन के अन्तर्गत मुख्य कार्य राजस्व इक्ट्ठा करना था, क्या कहलाता था ?
उत्तर :- समाहर्ता
14. मौर्य काल में राजकीय कोष के अधिकारी को कहा जाता था- सत्रिधाता
15. फैाजदारी न्यायालय के न्यायाधीश को कहा जाता था ?
उत्तर :- प्रदेष्टा
16. मौर्य प्रशासन के अन्तर्गत राजकीय आदेशों को लिपिबद्ध कराने वाला एवं राजकीय कागजातों को सुरक्षित रखने वाला मुख्य अधिकारी था ?
उत्तर :- प्रशास्ता
17. अर्थशास्त्र में 28 अध्यक्षों का विवरण मिलता है जिन्हें यूनानी लेखकों ने क्या कहा है ?
उत्तर :- मजिस्ट्रेट
18. युद्ध मुख्य प्रकार के सिक्के क्षेत्र में सेना का नेतृत्व करने वाला अधिकारी क्या कहलाता था ?
उत्तर :- नायक
19. कौटिल्य ने अर्थशास्त्र में गुप्तचरों को कहा है-
उत्तर :- गूढ पुरूष
20. गुप्तचर विभाग जिसके अधीन कार्य करता था, उसे कहा जाता था ?
उत्तर :- महामात्यापसर्प
21. अशोक के समय जनपदीय न्यायाधीश को कहा जाता था ?
उत्तर :- राजुक
22. मौर्य काल में भूमि कर उपज का कितना भाग निर्धारित था ?
उत्तर :- 1/6 से 1/4 भाग
23. कौटिल्य के अर्थशास्त्र में उल्लेखित मौर्यकालीन मुद्रा कार्षापण किस धातु का बना होता था ?
उत्तर :-चांदी एव तांबे ।

50 करोड़ के सिक्का घोटाले की जांच करेगी सीबीआई, मुख्य आरोपित कैशियर समेत बैंक के सात कर्मचारी हो चुके हैं निलंबित

5.50 करोड़ के सिक्का घोटाले की जांच करेगी सीबीआई, मुख्य आरोपित कैशियर समेत बैंक के सात कर्मचारी हो चुके हैं निलंबित

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी में यूनियन बैंक की एक शाखा में हुए साढ़े पांच करोड़ के सिक्का घोटाले की जांच सीबीआइ के हाथों में जा सकती है। सूत्रों का कहना है कि सीबीआइ जांच में और भी तथ्य सामने आ सकते हैं। सीबीआइ को सौंपे जाने के पीछे वजह यह है कि तीन करोड़ से अधिक के घोटाले की जांच सीबीआइ करती है। पुलिस की जांच में अब तक कुछ भी हाथ नहीं लगा है और मुख्य आरोपित भी पकड़ से बाहर है। अभी बैंक की मुख्य प्रकार के सिक्के विजिलेंस टीम जांच कर रही है।

प्रियदर्शिनी नगर स्थित यूनियन बैंक के शाखा प्रबंधक ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसमें जगन्नााथ नगर गुरु गोविंद सिंह वार्ड निवासी कैशियर किशन बघेल को दोषी बताया गया है। मूल रूप से खरियार रोड का रहने वाला मुख्य आरोपित किशन 25 मार्च के बाद से फरार है। बैंक प्रबंधन ने पिछले हफ्ते कैशियर समेत सात कर्मचारियों को निलंबित किया। किशन 31 अगस्त 2017 से मुख्य कैशियर के पद पर कार्यरत था। बताया गया है कि निलंबित कर्मचारी कैशियर के साथ कार्यरत थे।

भारत में प्रचलित नए सिक्के और नोट

2 रू :- ₹2 का पुराना सिक्का cupro-nickel तथा नया सिक्का Ferratic stainless steel ( fss) का बना होता है।

5 रू :- ₹5 का पुराना सिक्का cupro-nickel तथा नया सिक्का Ferratic stainless steel ( fss) का बना होता है।

रेटिंग: 4.36
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 441
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *